All for Joomla All for Webmasters

छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम (सीएसआईडीसी), छत्तीसगढ़ शासन, वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन उपक्रम (कंपनी अधिनियम, 1951 के तहत पंजीकृत) है और राज्य में औद्योगिक विकास को बढ़ावा हेतु नोडल एजेंसी है। सीएसआईडीसी मुख्य रूप से औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन एवं संवर्धन; निर्यात संवर्धन; औद्योगिक क्षमता सर्वेक्षणों; उद्योगों को भूमि आवंटन; उद्यमिता विकास एवं प्रशिक्षण; सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी); और औद्योगिक क्षेत्रों के विकास, रखरखाव और उन्नयन का कार्य करता है ।

      यह राज्य में छोटे, मध्यम और बड़े उद्योगों के विकास के लिए सहायक के रूप में कार्य करता है एवं एस्कॉर्ट सेवाए प्रदान करता है एवं औद्योगिक विकास में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए कटिबद्ध है । इसके द्वारा राज्य मे विभिन्न औद्योगिक ढांचागत सुविधाओं के विकास हेतु कार्य योजना तैयार कर उनका निर्माण एवं रखरखाव का कार्य किया जा रहा है। विगत वर्षों में, सीएसआईडीसी ने बड़े औद्योगिक विकास केन्द्रों यथा उरला, सिलतरा, सिरगिट्टी, बोरई आदि के विकास में एक अग्रणी भूमिका निभाई है । साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण क्लस्टर (ईएमसी); फूड पार्क, मेटल पार्क, इंजीनियरिंग पार्क की स्थापना का कार्य प्रगति पर है। सी एस आई डी सी द्वारा स्थानीय लघु एवं अन्य उद्योगो को लोहा और इस्पात, कोयला भी उपलब्ध कराया जाता है और साथ ही परीक्षण प्रयोगशाला के माध्यम से औद्योगिक और अन्य उत्पादों के परीक्षण और प्रमाणीकरण तथा फर्नीचर और कृषि उपकरण उत्पादन इकाइयों का संचालन किया जाता है।